इंडिया बनेगा भारत? India ,that is bharat

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया है कि इंडिया बनेगा भारत? India ,that is bhara दोस्तों हम आपको बता दें कि भारत का नाम उसे करने को लेकर काफी जरा बवाल मचा हुआ है 200 केंद्र सरकार ने इंडिया नाम बदलकर भारत नाम करने का प्रयास कर रही है इससे विपक्ष के गठबंधन ने अपना नाम इंडिया रख लेने के कारण यह विवाद हो रहा है दोस्तों मैं आपको एक बात और बता दूं की बहुत दिन पहले भारत को इंडिया के नाम से ही पुकारा जाता था लेकिन अब इंडिया का नाम बदलने जा रहा है वह भी भारत पढ़ने वाला है तो आईए जानते हैं कि इंडिया का नाम कैसे पड़ा क्यों पड़ा और भारत नाम क्यों अब पढ़ने जा रहा है तो इस पोस्ट को बारीकी से और लास्ट तक पढ़िएगा आपको बिल्कुल सब पूरा बात समझ में आ जाएगा

दोस्तों एक देश एक चुनाव एक देश एक आधार कार्ड एक देश एक राशन कार्ड एक देश एक नियम तो क्या नाम भी एक होना चाहिए इंडिया या भारत यह बात पूरे देश में विदेश में छाया हुआ है और इस पर घमासान बात हो रही है दोस्तों हम आपको बताते चले कि कोई भी देश का नाम एक ही होता है जैसे कि जर्मन जर्मनी अमेरिका चीन तो क्या हमारे देश का भी एक ही नाम होना चाहिए

हमारे संविधान में वैसे तो दो नाम दिया गया है एक तो इंडिया और दूसरा भारत और वैसे हम लोग हिंदुस्तान नाम से भी जानते हैं लेकिन अब बहुत हो रहा है कि हमारे देश का नाम एक होना चाहिए वह भी इंडिया के जगह भारत वैसे दोस्तों हम आपको बताते चले कि विदेश में भारत को इंडिया के नाम से ही प्रचलित हुआ है और सभी जगह इंडिया को ही इंडिया के नाम से जाना जाता है तो ऐसे में इंडिया का नाम बदलकर भारत रखना चाहिए

274 वर्ष पहले यह हमारे देश का नाम चुना जा चुका है तो क्या अब नाम बदलने ज बदला जा सकता है 74 वर्ष पहले 18 सितंबर 1949 को संविधान सभा में देश के नाम पर बहुत बड़ी चर्चा हुई थी बताते चले कि अंबेडकर की ड्राफ्ट कमेटी ने कहा था कि इंडिया डेट इस भारत और इस बात पर बहुत-बहुत हुई थी अंत में सारे संशोधन समाप्त कर दिए गया और इंडिया नाम ही स्वीकार कर लिया गया जब से अभी तक भारत को इंडिया नाम से ही जाना जाता है और हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी इंडिया नाम से ही प्रचलित है हमारा देश ऐसे में नाम बदलना उचित है या नहीं आप हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताइएगा

दोस्तों अगर इंडिया नाम खत्म हो जाएगा तो क्या-क्या हो सकता है आईए जानते हैं इसके बारे में दोस्तों अगर इंडिया नाम खत्म हो गया तो हमारे इंडिया नाम को हटा दिया जाए तो तमाम संस्थाओं में नाम बदलना होगा साथ ही साथ नोट पर जो रिजर्व बैंक आफ इंडिया लिखा हुआ रहता है वह भी नाम आपको बदलना होना चाहिए वह भी नाम बदल जाएग जो की काफी परेशानी वाली बात है साथ ही साथ बहुत ऐसा डॉक्यूमेंट है पासवर्ड है आधार कार्ड है ऐसे में राशन कार्ड है सभी जगह इंडिया नाम ही छपा हुआ है तो क्या नाम बदलने से यह सारे चीज में बदलाव होगा तो फिर से नोटबंदी भी आ सकती है फिर से नोट भी बंद हो सकती है और फिर से नया नोट छाप सकता है जिसे इंडिया की जगह भारत लिखा होना होगा

दोस्तों हम आपको बताते चले कि बीजेपी सांसद हरनाथ सिंह यादव ने कहा है कि इंडिया की जगह भारत नाम कर ले उनका कहना है कि इंडिया अंग्रेज के द्वारा दिया हुआ एक गली है और वह चाहते हैं कि संविधान में संशोधन होना चाहिए और इंडिया के जगह भारत नाम कर दिया जाए एक इंटरव्यू में भी कहा था कि पूरे देश इंडिया के वजह भारत नाम चाहता है और संविधान में भी संशोधन किया जाए और इंडिया के जगह भारत नाम कर दिया जाए

Leave a Comment