क्या है G20 ? जी 20 की शुरुआत कैसे हुई ? कौन-कौन देश है शामिल

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने आपको बताया है कि क्या है G20 ? जी 20 की शुरुआत कैसे हुई ? कौन-कौन देश है शामिल | 200 शुरुआत करने से पहले मैं आपको कुछ बात बताना चाहता हूं कि यह जो g20 शिखर सम्मेलन है ना वह 9 सितंबर से 10  सितंबर तक चलेगी जो कि दिल्ली में चलेगी प्रगति मैदान में चलेगी और इसमें 19 देश शामिल होगा 

G20 शिखर सम्मेलन का कार्य– दोस्तों मैं आपको बता दूं कि g20 शिखर सम्मेलन का कार्य अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मुद्दों को निर्धारित करना है इसके अलावा भी अन्य कार्य जैसे की आर्थिक स्थिरता वैश्विक व्यापार ग्लोबल चैलेंज और भी कार्य होता है और अन्य मुद्दों पर भी राय तय करन करने में अहम भूमिका होती है और इसमें एक दो देश नहीं शामिल होता है बल्कि इसमें पूरे 19 देश शामिल होती है और यह कोई अस्थाई सचिवालय नहीं है 19 देश और यूरोपीय यूनियन के बीच एक खास तरह के रोटेशन प्रणाली चलाई जाती है जिसमें नए अध्यक्ष का चुनाव भी किया जाता है

G20 का गठन – dosto g20 सम्मेलन का गठन 24 साल पहले ही हो गया था जो 24 साल से लेकर अब तक चलता आ रहा है और इस संगठन का गठन जो हुआ जी 20 संगठन का गठन वह सभी राज्यों में अलग-अलग में सम्मेलन होता है अभी तक भारत भारत में नई दिल्ली में 18 में और 20 में शिखर सम्मेलन होना होता हुआ है

दोस्तों मैं आपको बता दूं कि जी-20 शिखर सम्मेलन का गठन जो इस साल दिल्ली में होने वाला है वह प्रगति मैदान स्थित में होगा जो की 9 सितंबर से 10 सितंबर तक चलेगा और इसके अंतर्गत मोदी सरकार ने अपने सभी मंत्रियों को बोला है कि जी-20 इंडिया ऐप है जो अपने-अपने फोन में डाल दे और भी जरा और भी कुछ काम दिया गया है अपने मंत्रियों को मोदी सरकार ने

कौन-कौन देश शामिल है- दोस्तों की-20 शिखर सम्मेलन में पूरे 19 देश शामिल होता है अब यह 19 देश का मैं आपको नाम बताने जा रहा हूं तो आप ध्यान से पढ़िएगा सबसे पहले नंबर पर आता है अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील ,कनाडा ,चीन, फ्रांस ,जर्मनी ,भारत ,इंडोनेशिया ,इटली ,जापान, कोरिया, गणराज ,मैक्सी शो ,रूस ,सऊदी ,अरब दक्षिण, अफ्रीका ,तुर्की ,ब्रिटेन ,अमेरिका  यूरोपीय संघ यह पूरे 19 देश है जो की जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होता है जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान विदेशी प्रतिनिधियों को डिजिटल पावर गीता अप के जरिए अपने लाइफ को समझने क का मौका भी मिलेगा

G20 का स्थापना 1999 में कई आर्थिक संकटों को दूर करने के लिए की गई थी 2008 के बाद भारत में कम से कम एक बार बैठक होती है सरकार या राज्य के प्रमुख विदेशी मंत्री और वित्त मंत्री अन्य उच्च पदाधिकारी को शामिल किया जाता है जिन में बहुत सारे बातों पर निर्धारण किया जाता है कि देश किन-किन कठिनाइयों से गुजर रही है किन-किन बातों पर ध्यान किया जाए यह सारी बातें जी-20 में होती है

दोस्तों ध्यान करने वाली बात यह है कि सभी साल में सभी देश में जवानी करती जी20 शिखर सम्मेलन का लेकिन इस बार यानी 2023 में जी-20 शिखर सम्मेलन का मेजबानी करेगी भारत सरकार

G20 सदस्य विश्व की लगभग दो तिहाई आबादी 80% वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद 80% वैश्विक निवेश और 75% से अधिक वैश्विक व्यापार का प्रतिनिधित्व करते हैं

200 g20 से आम लोगों का क्या फायदा होगा तो लिए समझते हैं कि जी-20 से आम लोगों का क्या फायदा होता है दोस्तों हम लोगों के देश में न जाने कितना सारा अर्थव्यवस्था गड़बड़ होता है जिससे अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने की बात की जाती है चर्चा की जाती है 260 शब्द में कहे तो इससे होता क्या है कि आर्थिक मजबूती से देश में रोजगार पैदा होती है और सभी को रोजगार मिलती है यह शिक्षा साथ खाद्य पदार्थ का भी मूल्य कम करती है जिससे आम लोग भी इस कंजूमर कर पाती है

Leave a Comment